मधेपुरा:सेठ समझकर मजदूर का किया अपहरण, पत्नी से मांगी 20 लाख की फिरौती, 12 फीट के सुरंग में रखने से हुई मौत - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

नई सोच नई खबर

KOSHI%2BLIVE2

Breaking

Translate

Saturday, 9 March 2019

मधेपुरा:सेठ समझकर मजदूर का किया अपहरण, पत्नी से मांगी 20 लाख की फिरौती, 12 फीट के सुरंग में रखने से हुई मौत

कोशी लाइव:अक्की
शव मिलने के बाद विलाप करते अपहृत के परिजन
सेठ समझकर 20 लाख रुपए फिरौती के लिए 2 मार्च को पुरैनी बाजार से अपहृत मजदूर कपिलदेव सिंह का शव पुलिस ने बिहारीगंज थाना के रामपुर डेहरु से बरामद कर लिया। कपिलदेव का नंगा शव 12 फीट के एक सुरंग में पड़ा हुआ था, जिसके मुंह में कपड़ा ढूंसा हुआ था। पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसमें रामपुर डेहरु निवासी मनोज राम व विनोद मालाकार और साजिशकर्ता के रूप में पुरैनी निवासी अखिलेश पोद्दार शामिल है। 

सदर थाना में शुक्रवार को आयोजित प्रेसवार्ता में एसपी संजय कुमार ने बताया कि पुरैनी थाना क्षेत्र के कोयला टोला निवासी सेठ मुकेश केडिया की तेल मिल पर कपिलदेव सिंह मजदूरी करता था। साजिशकर्ता अखिलेश के कहने पर अपहरणकर्ताओं ने केडिया के मोबाइल पर फोन किया तथा बतौर रंगदारी 20 लाख रुपए की मांग की। जिस वक्त साजिशकर्ताओं ने फोन किया था, उस वक्त फोन मजदूर कपिलदेव सिंह ने ही रिसीव किया था। फोन पर ही अपहरणकर्ताओं ने उसे पुरैनी नहर पर आने को कहा। अपहरणकर्ताओं के कहने पर कपिलदेव सिंह नहर पर चले गए, जहां घात लगाकर बैठे अपराधियों ने उसे नहर के रास्ते पुरैनी से 13 किलोमीटर दूर बिहारीगंज थाना के रामपुर डेहरु लेकर चले गए। वहां उससे 20 लाख रुपए देने को कहा गया। किंतु मजदूर ने अपहरणकर्ताओं को बताया कि वह मुकेश नहीं बल्कि उसके यहां बतौर मजदूर काम करने वाला कपिलदेव है। उसकी बात पर अपहरणकर्ताओं को भरोसा नहीं हुआ और वे लोग रंगदारी देने के लिए दबाव डालते रहे। अंत में अपहरणकर्ताओं ने तय किया कि 5 लाख रुपए देने पर उसे छोड़ दिया जाएगा। अन्यथा उसकी हत्या कर दी जाएगी। 

बिहारीगंज थाना क्षेत्र के रामपुर डेहरु से पुलिस ने सुरंग से किया शव बरामद, उगले कई राज 
कपिल को छोड़ने के लिए 1.50 लाख देने को तैयार हुआ था सेठ लगातार दबाव देने के बाद कपिलदेव सिंह ने अपने सेठ को घटना की जानकारी दी। इसके बाद सेठ 1.50 लाख रुपए देने को तैयार हो गए। पर अपहरणकर्ता नहीं माने और कपिलदेव से मोबाइल छीन लिया। घनी आबादी में एक घर के पीछे 12 फीट का सुरंग बनाकर कपड़े खोलकर उसे अंदर रख दिया। साथ ही बालू से भरे बोड़ा में उसके मुंह को घुसाकर बांध दिया। उसके मुंह में कपड़ा भी बांध दिया गया, ताकि वह हल्ला न कर पाए। सुरंग के उपर लकड़ी और पुआल रख दिया, ताकि किसी को पता नहीं चल पाए। वैज्ञानिक अनुसंधान के क्रम में पुलिस ने अपहरणकर्ताओं मनोज राम और विनोद मालाकार को शक के आधार पर गिरफ्तार कर पूछताछ करना शुरू कर दिया। पूछताछ में शामिल बिहारीगंज थानाध्यक्ष बीडी पंडित, पुरैनी थानाध्यक्ष राजेश चौधरी और आलमनगर थानाध्यक्ष राजेश कुमार की सख्ती के बाद अपहरणकर्ताओं ने गुनाह कबूल लिया। 

25 साल से एक ही सेठ के यहां काम करता था कपिलदेव बताया गया कि सेठ मुकेश केडिया के तेल मिल पर कपिलदेव सिंह पिछले 25 साल से काम करता था। 2 मार्च को उसका अपहरण किया गया था। अपहरण के बाद परिजनों ने दो दिनों तक अपने स्तर से खोजबीन की। नहीं मिलने पर पुरैनी थाना में आवेदन दिया। आवेदन में कमी बताते हुए महिला के फर्द बयान पर केस दर्ज कर निरंजन यादव को गिरफ्तार कर लिया गया। लेकिन अपहरण का मामला जब गर्म होने लगा तो गुरुवार को एसपी संजय कुमार भी पुरैनी थाना पहुंचे थे। आराेपियों से पूछताछ में पता चला कि सुरंग में बिजली का तार और बल्ब भी लगे हुए थे। संभवत: अपहरण के बाद से कपिलदेव को उसी सुरंग में रखा गया था। सुरंग की मिट्टी को 200 मीटर दूर फेंका गया। वैसे घटनाक्रम की कुछ कड़ियां अब भी टूटी हुई है। आरोपियाें से गहन पूछताछ में इसका खुलासा हो सकता है।




चाइना मोबाइल से लड़की की आवाज में फोन कर बुलाया था मजदूर को


मधेपुरा। अनुमंडल के पुरैनी थाना क्षेत्र से दो मार्च को अपहृत मजदूर कपिलदेव सिंह (55 वर्ष) को चाइना मोबाइल से लड़की की आवाज में फोन कर बुलाया गया था। बताया जा रहा है कि मजदूर आशिक मिजाज का था। इस कारण अपहरणकर्ताओं ने इस तकनीक का उपयोग किया था। मजदूर का अपहरण फिरौती के लिए किया गया था। शुक्रवार की सुबह पुलिस ने बिहारीगंज थाना क्षेत्र के जौतेली पंचायत अंतर्गत रामपुर डेहरू गांव से पुलिस ने अपहृत का शव बरामद किया। मालिक समझ हुआ था अपहरण बताया गया कि रामपुर गांव के लोगों का पुरैनी बाजार आना-जाना लगा रहता है। इस दौरान तेल मील पर काम करने वाले मजदूर कपिलदेव सिंह को ही मालिक समझ अपहरणकर्ताओं ने अपहरण कर लिया था। अखिलेश ने रची थी अपहरण की साजिश
पुरैनी के ज्वेलर्स व्यवसायी अखिलेश पोद्दार ने अपहरण की साजिश रची थी। यह बात पुलिस जांच से खुलासा हुआ है। पुलिस ने साजिशकर्ता को गिरफ्तार कर लिया है।

Total Pageviews

Follow ME

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

कोशी लाइव

यहाँ आप कोशी क्षेत्र के आसपास सभी जिलों मधेपुरा, सहरसा,सुपौल।तथा अपने प्रखंड ओर पंचायत की सटीक खबरें पढ़ सकते हैं। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Pages