सहरसा:डॉक्टर हत्याकांड को लेकर गरमाया माहौल, अपनों पर ही शक, पिता ने दर्ज कराई प्राथमिकी - कोशी लाइव

BREAKING

रितिका CCTV

रितिका CCTV
सेल एंड सर्विस

विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, March 22, 2019

सहरसा:डॉक्टर हत्याकांड को लेकर गरमाया माहौल, अपनों पर ही शक, पिता ने दर्ज कराई प्राथमिकी

कोशी लाइव: विकास तांती

सहरसा। होली से दो दिन पूर्व गोली मारकर दंत चिकित्सक डा. किशोर कुमार की हुई हत्या के बाद डॉक्टरों के बीच माहौल गर्म है। सदर अस्पताल में आइएमए की हुई बैठक के बाद शुक्रवार से ओपीडी सेवा को ठप कर डॉक्टरों ने हड़ताल शुरू कर दी है। वहीं 48 घंटे के अंदर आरोपित की गिरफ्तारी नहीं होने पर सदर अस्पताल की इमरजेंसी सेवा ठप करने की घोषणा की गई है।
---
पिता ने दर्ज कराई प्राथमिकी
----
जानकारी के अनुसार डॉक्टर भास्कर घटना के दिन कार से अपने ससुराल कटिहार जिला के कदवा थाना क्षेत्र अंतर्गत कुम्हरी गांव जा रहे थे। सदर थाना के ही बैजनाथपट्टी के समीप बदमाशों ने कार में ही उनकी गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस मामले में डॉक्टर के पिता संतनगर हनुमान चौक निवासी कृष्णकांत साह के आवेदन पर सदर थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है। जिसमें कहा गया है कि वर्ष 2013 से डॉक्टर रमेश झा रोड में क्लिनिक चला रहे थे। करीब छह माह पूर्व दंत चिकित्सक डा. अजहर के यहां से एक कम्पाउंडर आया था और उनके पुत्र के क्लिनिक पर काम करने लगा था। जिससे उसका क्लिनिक बेहतर तरीके से चलने लगा था। यह भी कहा है कि क्लिनिक बेहतर चलने के कारण कुछ दंत चिकित्सक को जलन होती थी यह जानकारी उनके पुत्र ने उन्हें दी थी।
----
मोबाइल गायब होने से उठ रहा सवाल
-----
डॉक्टर की हत्या जिस कार में की गई उस कार से पिस्तौल, एक गोली व एक खोखा बरामद किया गया। उसके पास मौजूद पैसा भी सुरक्षित था। परंतु डॉक्टर का मोबाइल गायब था। यही नहीं डॉक्टर के 11 माह के बच्चे की मौत 10 मार्च 2019 को हो गई थी और उसी दिन डॉक्टर के पत्नी का मोबाइल भी घर से गायब हो गया था। जिस कारण पुलिस इस बिदू पर गहनता से छानबीन कर रही है। इस मामले में अबतक वैसे पुलिस को कोई खास सुराग नहीं मिल पाया है।
---
फोरेंसिक टीम ने की जांच
----
पटना से आई फोरेंसिक टीम ने मामले की छानबीन की। कार से खून व अन्य नमूना एकत्रित कर जांच के लिए ले गई है। जबकि फिगर प्रिट व अन्य की तहकीकात की गई। पुलिस इस मामले में डॉक्टर के अपनों पर भी शक कर रही है। वैसे कोई ठोस साक्ष्य नहीं मिल पाया है।
----
ओपीडी सेवा को किया ठप
----
आइएमए की बैठक सदर अस्पताल में अध्यक्ष डा. केसी झा की अध्यक्षता में हुई। सचिव डा. शिलेन्द्र कुमार ने बताया कि तत्काल सरकारी अस्पताल में ओपीडी सेवा ठप रहेगी। जबकि निजी अस्पतालों व क्लिनिक में ओपीडी व इमरजेंसी सेवा ठप रहेगी। अगर शनिवार तक पुलिस मामले का उछ्वेदन नहीं करती है तो रविवार से सरकारी अस्पतालों में भी इमरजेंसी सेवा ठप कर दी जाएगी। जबकि सहरसा, मधेपुरा व सुपौल के आइएमए से भी संपर्क किया गया है। जरूरत पड़ी तो प्रमंडल स्तर पर बैठक कर पूरे चिकित्सा सेवा को ठप कर दिया जाएगा।
----
भटकते रहे मरीज
---
निजी क्लीनिकों में ओपीडी व इमरजेंसी सेवा बंद करने के बाद मरीजों व उसके परिजनों को काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। शुक्रवार को मरीज दिन भर निजी क्लीनिकों का चक्कर काटते रहे। हालांकि निजी क्लीनिक में मरीजों का इलाज नहीं हो पाया। बनगांव से नया बाजार स्थित चिकित्सक डा. आईडी सिंह के यहां इलाज कराने पहुंचे वीरेंद्र कुमार ने बताया कि हड़ताल की जानकारी नहीं थी। दिन भर बर्बाद हो गया। वो तेज बुखार से पीड़ित थे।
---
इस मामले का जल्द उछ्वेन कर दिया जाएगा। साक्ष्य जुटाया जा रहा है। होली की छुट्टी के कारण विलंब हो रहा है। लेकिन सही हत्यारे को हर हाल में पकड़ा जाएगा।
प्रभाकर तिवारी, सदर एसडीपीओ, सहरसा

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews