बिहार: सुपौल, सहरसा,मधेपुरा व उदाकिशुनगंज जेल में छापेमारी, मोबाईल फोन सहित खैनी व चूना बरामद - कोशी लाइव

BREAKING

विज्ञापन

विज्ञापन

Sunday, March 3, 2019

बिहार: सुपौल, सहरसा,मधेपुरा व उदाकिशुनगंज जेल में छापेमारी, मोबाईल फोन सहित खैनी व चूना बरामद

कोशी लाइव:अक्की

मधेपुरा। राज्य मुख्यालय के निर्देश पर शनिवार को जिलाधिकारी नवदीप शुक्ला एवं पुलिस अधीक्षक संजय कुमार ने संयुक्त रूप से पुलिस जवानों को साथ लेकर मंडल कारा पहुंचकर कैदी वार्ड की जांच की। लगभग डेढ़ घंटे चले जांच के दौरान पदाधिकारी को कोई भी आपत्तिजनक सामान प्राप्त नहीं हुआ। पदाधिकारी व जवानों को खाली हाथ लौटना पड़ा। जिलाधिकारी नवदीप शुक्ला ने बताया कि मंडल कारा की जांच नियमित की गई है। जांच के दौरान कैदी वार्ड से कोई भी आपत्तिजनक सामान बरामद नहीं हुआ है। जांच के दौरान सदर एसडीएम बृंदा लाल, एसडीपीओ वाशी अहमद, पुलिस अवर निरीक्षक महेंद्र प्रसाद,सहायक पुलिस अवर निरीक्षक अरुण कुमार सिंह, कमांडो दल एवं सशस्त्र बल के जवान शामिल थे।
उदाकिशुनगंज : उदाकिशुनगंज अनुमंडल मुख्यालय के मंडल उपकारा में शनिवार को छापेमारी के दौरान प्रशासन को खैनी, चूना मिला। राज्य मुख्यालय से मिले निर्देश के बाद एसडीएम एसजेड हसन के नेतृत्व में छापेमारी अभियान चलाया गया। छापेमारी में अनुमंडल क्षेत्र के सभी थाना व ओपी पुलिस शामिल थे। करीब तीन घंटे तक जेल के भीतर छापेमारी अभियान चला। इस दौरान प्रशासन ने विभिन्न वार्डो को खंगाला गया। वार्डो से प्रशासन को खैनी व चूना मिला। बरामद समान को लेकर थाना में आज्ञात कैदी के विरूद्ध केस दर्ज किया जाएगा। अधिकारी ने कैदियों के रहने, खाने, सोने के जगह का भी जायजा लिया। अधिकारी ने कैदियों को मिलने वाली सुविधा के बारे में भी जानकारी ली। खाना बनाने वाले जगह और भंडार गृह का भी अवलोकन किया। एसडीएम एसजेड हसन ने बताया कि वरीय अधिकारी के निर्देश पर छापेमारी अभियान चलाया गया। कुछ बरामद समान को लेकर कारा उपाधीक्षक को निर्देश दिए गए। छापेमारी से कैदियों में हड़कंप मचा रहा। छापेमारी में उदाकिशुनगंज के एसडीएम एसजेड हसन, एसडीपीओ सीपी यादव, थानाध्यक्ष जेके सिंह, बिहारीगंज थानाध्यक्ष बीडी पंडित, आलमनगर थानाध्यक्ष राजेश कुमार, दारोगा केडी यादव आदि शामिल थे।

SAHARSA:

जेल में डीएम, एसपी ने की छापेमारी, दो मोबाइल बरामद

 जिला प्रशासन के द्वारा शनिवार को मंडल कारा सहरसा में छापेमारी की गई। डीएम व एसपी के नेतृत्व में हुई रूटीन छापेमारी में मंडल कारा से दो मोबाइल फोन, बेडशीट, खैनी, गुटखा व सिगरेट बरामद किया गया। छापेमारी करीब एक घंटे तक चली। छापेमारी के संबंध में डीएम शैलजा शर्मा ने बताया कि सुरक्षा के मद्देनजर रूटीन कारवाई की गई थी। जिसमें दो मोबाइल फोन, एक बेडशीट, खैनी गुटखा बरामद हुआ। एसपी राकेश कुमार ने बताया संयुक्त रूप से की गई छापेमारी के दौरान स्वास्थ्य विभाग व अग्निशमन विभाग भी शामिल था। अचानक हुई छापेमारी से जेल में हड़कंप मच गया। छापेमारी में सदर एसडीओ शंभूनाथ झा, मुख्यालय डीएसपी गणपति ठाकुर, काराधीक्षक सुरेन्द्र कुमार गुप्ता, जिला अग्निशमन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह सहित कारा और पुलिस बल शामिल थे।
कई बार हो चुकी है मोबाइल बरामदगी: मंडल कारा सहरसा में मोबाइल फोन की बरामदगी नयी बात नहीं है। इससे पूर्व महानिरीक्षक कारा एवं सुधार सेवाएं बिहार पटना के निर्देश प 21 फरवरी की दोपहर एक घंटे तक औचक तलाशी की गयी थी। काराधीक्षक के नेतृत्व में कारा कर्मी व बिहार सैन्य पुलिस द्वारा संयुक्त रूप से बंदी वार्ड सहित कारा परिसर के अन्य जगहों पर तलाशी के दौरान मिट्टी के नीचे नाले में 4 मोबाइल, 2 चार्जर, 1 चिलम व 1 खैनी की पुडिया बरामद किया गया था ।नववर्ष के मौके पर भी दो मोबाइल व एक चार्जर बरामदगी के दौरान मंडल काराधीक्षक पर हमले का प्रयास किया गया था। अलार्म बजाकर हालात पर काबू पाया गया था।बीते वर्ष ही 20 सितंबर को तलाशी के दौरान एक मोबाइल फोन बरामद हुआ था। जिससे फेसबुक पर फोटो अपलोड किया गया था। 24 सितम्बर को भी तलाशी के दौरान कारा वार्ड के अंदर और बाहर बंदियों द्वारा छिपाकर रखा गया पांच मोबाइल फोन व दो चार्जर बरामद किया गया था । तलाशी के दौरान वार्ड 16 में छिपाकर रखा गया 1-1 सैमसंग व लावा , वार्ड 4 झाड़ी में छिपाकर रखा गया 1 सैमसंग , वार्ड 11 में झाड़ी में छिपाकर रखा गया 1-1 सैमसंग व जीओ मोबाइल फोन के अलावा वार्ड 1 व 14 से छिपाकर रखा गया दो मोबाइल फोन चार्जर बरामद किया गया था। लगातार मोबाइल बरामदगी भी कारा व्यवस्था पर सवाल खड़े कर रहा है।


सुपौल।

कानून व्यवस्था को लेकर पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर शनिवार को दो घंटे तक जेल में छापेमारी की गयी। पुलिस टीम सभी वार्डों का एक साथ तलाशी ली। इस क्रम में प्रशासन को 8 तंबाकू पाउच, 4 गुल पैकेट, ताश, स्क्रू ड्राईवर और सादे कागज पर 12 मोबाइल नंबर लिखा हुआ मिला। पुलिस इसकी जांच कर रही है।
मंडल कारा में डीएम महेन्द्र कुमार और एसपी मृत्युंजय कुमार चौधरी छापेमारी का नेतृत्व कर रहे थे। सुबह लगभग 8.30 बजे से 10.15 बजे तक प्रशासनिक अधिकारी जेल के चप्पे-चप्पे की तलाशी लेते रहे। महिला वार्ड, पुरुष वार्ड, पुस्तकालय, जेल अस्पताल सहित जेल की छतों की भी बारी-बारी से तलाशी ली गयी। इस दौरान जेल के अंदर एक-एक कमरों को खुलवा कर देखा गया। छापेमारी के दौरान बंदियों को मिलने वाला भोजन, स्वास्थ्य सहित अन्य सुविधा के बारे में पूछताछ की गयी। डीएम ने जेल के अंदर मेस का भी निरीक्षण किया।
जेल के अंदर गंदगी देख डीएम ने साफ-सफाई पर विशेष फोकस करने को कहा। छापेमारी के दौरान कैदियों के टॉयलेट के पास एक पॉलीथिन में लिपटा खैनी का पाऊच मिला। डीएम ने बताया कि छापेमारी के दौरान कैदियों को दी जाने वाली दवा का स्टॉक और उसके पंजी की जांच की गयी।
उन्होंने बताया कि छापेमारी के दौरान इस बात का पता चला कि पिछले छह माह से जेल का सीसीटीवी कैमरा काम नहीं कर रहा है। छापेमारी में हेडक्वार्टर डीएसपी विनोद कुमार, एसडीएम कयूम अंसारी, सदर थानाध्यक्ष राजेश मंडल, इंस्पेक्टर वासुदेव राय, महिला थानाध्यक्ष प्रेमलता भूपाश्री के अलावा 36 महिला और पुरुष जवान भी शामिल थे।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews