पूर्णियां:महज 1500 रुपये की खातिर गला रेत कर दोस्त को मार डाला, सातवीं कक्षा का छात्र था मृतक - कोशी लाइव

BREAKING

रितिका CCTV

रितिका CCTV
सेल एंड सर्विस

विज्ञापन

विज्ञापन

Monday, March 4, 2019

पूर्णियां:महज 1500 रुपये की खातिर गला रेत कर दोस्त को मार डाला, सातवीं कक्षा का छात्र था मृतक

कोशी लाइव:अक्की

पॉलिटेक्निक कॉलेज मैदान स्थित झाड़ी में ले जाकर दिया घटना को अंजाम
- काला-नीले रंग के हीरो ग्लैमर बाइक पर थे तीन युवक, एक की हुई पहचान

पूर्णिया :
 बिहार के पूर्णिया में महज 15 सौ रुपये की खातिर एक छात्र की गला रेत कर हत्या कर दी गयी. वह सातवीं कक्षा का छात्र था. घटना सोमवार दोपहर करीब 02 बजे पॉलिटेक्निक कॉलेज के मैदान में हुई. मृतक छात्र मोनी उर्फ आदित्य (15 वर्ष) मरंगा थाना क्षेत्र के रामनगर का रहने वाला था. 

घटना का खुलासा तब हुआ जब मृतक के तीन मित्रों ने पॉलिटेक्निक कॉलेज के अंदर से उसे खून से लथपथ निकलते देखा. घायल छात्र को एक ऑटो पर सदर अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टर द्वारा मृत घोषित कर दिया गया. छात्र की मौत के बाद उसके परिजनों में कोहराम मच गया. मोनी के पिता नंदकिशोर सिंह का निधन हो गया है, जबकि वह 06 भाइयों में सबसे छोटा था. 

घटना की सूचना पर सदर एसडीपीओ आनंद कुमार पांडेय, केहाट थानाध्यक्ष विवेकानंद सिंह सदल बल सदर अस्पताल पहुंचे और मृतक छात्र के परिजनों से घटना की जानकारी ली. मृतक छात्र के बड़े भाई गौरव कुमार के बयान पर सहायक खजांची थाना के आश्रम का रहनेवाला श्रीमन एवं दो अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की जा रही है. सदर एसडीपीओ आनंद कुमार पांडेय ने बताया कि छात्र की हत्या में शामिल एक युवक की पहचान कर ली गयी है. इसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है.

मोबाइल के बकाया रुपये की वजह से हुई घटना
परिजनों ने बताया कि मृतक छात्र मोनी ने आश्रम रोड में रहनेवाले बीए के एक छात्र श्रीमन को 15 सौ रुपये में एक मोबाइल बेचा था. लेकिन, श्रीमन ने रुपये का तत्काल भुगतान नहीं किया था. मोनी इस बकाये रुपये के लिए तगादा कर रहा था पर श्रीमन उसे रुपये देने की बजाय हर रोज टाल-मटोल करता आ रहा था. इसी दौरान रविवार की रात श्रीमन व अन्य दो युवकों ने मोनी के घर पहुंच कर उसे धमकी भी दी थी. 

फोन कर पॉलिटेक्निक कॉलेज के मैदान में बुलाया
सोमवार दोपहर करीब 1:30 बजे मोनी को श्रीमन ने फोन कर पॉलिटेक्निक कॉलेज के मैदान में बुलाया, जहां उसने अन्य दो सहयोगियों की मदद से उसकी गला रेत कर हत्या कर दी. मृतक के परिजन भी हत्या का कारण मोबाइल के 15 सौ रुपये बकाया बताते हैं. परिजनों ने बताया कि रुपये के तगादा से श्रीमन अपनी प्रतिष्ठा बना लिया था और आक्रोश में घटना को अंजाम दे दिया.

एक बाइक पर सवार थे तीन युवक

घटना के संबंध में मृतक के तीन मित्रों ने बताया कि श्रीमन के बुलाने की जानकारी मोनी ने उनलोगों को फोन से दी थी. वे तीनों भी करीब दोपहर 1:30 बजे पॉलिटेक्निक चौक पहुंचे थे जहां मोनी पूर्व से खड़ा था. मित्रों ने बताया कि मोनी द्वारा कहा गया कि श्रीमन ने फोन कर उसे पॉलिटेक्निक कॉलेज के मैदान में बुलाया है. संभवत: मोबाइल का बकाया रुपये देगा. उसकी जानकारी के बाद वे लोग भी साथ जाने की बात कही, लेकिन मोनी ने उन लोगों को वहीं रूकने कह कर अंदर चला गया. 

करीब 25 से 30 मिनट के बाद कॉलेज के अंदर से एक काले-नीले रंग की ग्लैमर बाइक से श्रीमन समेत तीन युवक सवार होकर बाहर निकला. इसके कुछ ही देर बाद मोनी खून से लथपथ होकर कॉलेज के बाहर आते दिखा. उसके गर्दन में गहरा जख्म था और वह कुछ बताने की स्थिति में नहीं था. उसके बड़े भाई गौरव को घटना की सूचना दी गयी. गौरव के आने के बाद मोनी को ऑटो पर बिठा कर अस्पताल लाया गया.

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews