सुपौल:दुआ के साथ हुआ जलशा का समापन - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

नई सोच नई खबर

Breaking

तिवारी एजेंसी(सहरसा)

तिवारी एजेंसी(सहरसा)
छड़,सीमेंट,गिट्टी,बालू एवं हार्डवेयर की सामान के लिए संपर्क करें।

THE JABED HABIB

THE JABED HABIB
BEST HAIR AND MAKEUP SLOON

Translate

Wednesday, 27 February 2019

सुपौल:दुआ के साथ हुआ जलशा का समापन

कोशी लाइव :
छातापुर | सुपौल|संतोषकुमार भगत

प्रखंड मुख्यालय स्थित मदरसा अजवरुल उलूम के प्रांगण में नातिया मुशायरा सह एक दिवसीय जलशा कार्यक्रम का आयोजन बुधवार को किया गया | जिसके माध्यम से मौलानाओं (वक्ताओ) ने अपनी बाते रखते हुए लोगो से आपसी सोहार्द, अमन चैन आदि बनाये रखने की अपील की। जलशा कार्यक्रम में तालीम पर सबसे ज्यादा जोर दिया गया। इसकी अध्यक्षता मौलाना सगीर अहमद रहमानी ने की | जियाउल्लाह जिया रहमानी के संचालन में आयोजित जलशा को सम्बोधित करते हुये चतुर्वेदी अब्दुल माजिद ने सबसे पहले राष्टीय एकता पर जोर देते हुए कहा कि सभी धर्म के लोगो को साथ कदम से कदम मिलाकर चलना चाहिए|  क्योंकि दोनों धर्म के अल्लाह इश्वर सभी एक ही है। लेकिन वे अलग अलग नामो से जाने जाते है। उन्होंने मुस्लिम धर्म के कुरान ,हिन्दू धर्म के रामायण सहित सभी धर्मो के पुस्तकों का अर्थ बताते हुए कहा कि चारों वेदों में एक ही बात इश्वर की भक्ति ,अल्लाह की बंदगी आदि रहती है। लेकिन 1 लाख 24 हजार नबी में आखरी नबी हजरत मोहमम्द मुस्तुफा साहब के बताये मार्ग पर सभी को चलने की जरुरत है। तभी मुल्क में अमन चैन का माहौल कायम रहेगा। उन्होंने तालीम पर भी जोर देते हुए कहा कि आज इन्सान शिक्षा की कमी के कारण ही गरीबी की मार झेलने को विवश है। उन्होंने समाज में फैली बुराइयों को खत्म कर समाज को स्वच्छ बनाने में लोगो को अहम भूमिका देने की बात कही। उन्होंने दहेज़ प्रथा समेत अन्य कुरीतियों  खात्मा  सभी को आगे आने की बात कही | उन्होंने कहा कि अगर कुछ इंसान दहेज़ प्रथा को चलाने में योगदान दे रहे है तो उन्हें सामाजिक तौर पर चिन्हित करने की जरूरत है | उन्होंने कहा कि मोहम्मद रसुल्लाह के बंदगी और सरियत से ही इन्सान को जन्नत पाने का मार्ग प्राप्त होता है। इसलिए उन्होंने सभी से खुदा की बंदगी नित्य करने की बात कही। मौलाना अब्दुल कलाम साहब ने कहा कि मुसलमान देश की उन्नति के लिए समाज सेवा में तल्लीन रहे। उन्होंने सभी को गरीबों का मसीहा बनने की बात कही | उन्होंने मुसलमान अर्थ बताते हुए कहा कि मुसलें जोर ईमान ही मुसलमान का अर्थ है | इसलिए मुसलमान को नेक राह पर चलकर दूसरे के मददगार बनने की जरूरत है | उन्होंने मुसलमानों को दबे कुचलो को गले लगाने की बात बताते हुए कहा कि धैर्य व सोहार्द का वातावरण बनाये।समाज में फैली बुराइयों को मिटाने के लिए तालीम की बहुत जरुरत है। सभी के शिक्षित होने से ही समाज में फैली गन्दगी रूपी बुराई जड़ से समाप्त हो सकेगी। उन्होंने कहा कि मुसलमान इस्लामिक कानून पर चलकर समाज और देश के लिए नमूना पेश करे। जलशा को मौलाना अब्दुल मतीन साहब, मुफ़्ती कोसर सहमानी, सेखुल हदीस आदि ने  सम्बोधित किया |



 मौके पर थानाध्यक्ष अनमोल कुमार, युवा संघ के अध्यक्ष मकसूद मसन, मौलाना आरिफ रहमानी, मो. नूरुद्दीन, असगर अली, सगीर अहमद, मो. सगीर, इमाम हसन, हाफिज सोहराब, मो, हारून, मो. कलाम, मौलाना कलाम, माहिर भारती, केसर अली राणां, आबिद हुसैन, सरफराज, ख़लीक़ुल्लाह अंसारी, लुकमान दानिश, चन्दन राम, राजेंद्र पासवान, मो. हासम, मो. रफ्तन, मो. निजाम, मो।  शमसुल, सरीफ मास्टर, मो, समद, मो, अबुजर गफ़्फ़ारी, मो. सुक्खन, अम्बेडकर सिंह, गौरी शंकर भगत, बेचन, मो. जहांगीर, मो. रब्बान, मो, नौशेर, मो. निजाम, मो. हासिम, मो. कलीम, मो. अजीम,नौशाद उर्फ़ पप्पू, मो. सलाउद्दीन, मो. जमील, मुजाहिद आलम उर्फ़ हीरा, मो. नईम, मो. वहाब, मो. इंतिजार, मो. आजाद, मो. फिरोज, शुशील ठाकुर आदि समेत बड़ी संख्या में लोग थे। जलशा के दौरान व्यापक साज सज्जा किया गया था। दुआ के साथ हुआ जलशा का समापन : मौलाना सगीर अहमद रहमानी  नेतृत्व में दुआ संपन्न कराया | इस दौरान एक निकाह भी जलशा में संपन्न हुआ |

Total Pageviews

Follow ME

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

कोशी लाइव

यहाँ आप कोशी क्षेत्र के आसपास सभी जिलों मधेपुरा, सहरसा,सुपौल।तथा अपने प्रखंड ओर पंचायत की सटीक खबरें पढ़ सकते हैं। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Connect With us

Pages