मधेपुरा: धान क्रय केंद्र खुलने में हुई देरी से किसानों में आक्रोश - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

नई सोच नई खबर

KOSHI%2BLIVE2

Breaking

Translate

Friday, 4 January 2019

मधेपुरा: धान क्रय केंद्र खुलने में हुई देरी से किसानों में आक्रोश

कोशी लाइव:AKKY

संवाद सूत्र, बिहारीगंज(मधेपुरा): राज्य सरकार के घोषणा के बावजूद बिहारीगंज प्रखंड में अभी तक किसानों से धान की खरीद शुरू नहीं हो पायी है। ऐसे में किसान बिचौलिये के हाथ कम कीमत पर बेचने को मजबूर हैं। किसानों ने बताया कि क्रय केंद्र खुलने का इंतजार करने के बाद मजबूरी में किसानों को 1300 से 1400 रुपये प्रति ¨क्वटल धान बेचना पड़ा। किसानों का आरोप है कि बिचौलिये और साहूकार को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से अधिकारियों के द्वारा देरी से धान क्रय केन्द्र चालू कराया जाता है। किसानों का धान नहीं लेकर फर्जी कागजात पर बिचौलिये का धान खरीद किया जाता है। बिहारीगंज में सरकारी द्योषणा के एक माह बाद दो पंचायत राजगंज एवं शेखपुरा धान क्रय केन्द्र खोला गया है। जहां विरानी छायी रहती है। साहूकार द्वारा पूर्व में ही सैकड़ों टन धान खरीद कर ट्रक से दूसरे प्रदेश में बिक्री करने के लिए भेजा जा चुका है।
------------------------------
किसानों ने कहा कि आंकड़ों का खेल करेगी विभाग :
सरकारी घोषणा के बाद भी समयानुसार धान क्रय केन्द्र नहीं खुलने से धान तेरह सौ से साढ़े तेरह सौ रुपये प्रति ¨क्वटल व्यापारियों के हाथ बेचना मजबूरी बनी हुई है। यहीं वजह है कि कड़ी मेहनत कर धान खेती करने के बावजूद उचित दर नहीं मिल पाता है। किसान के समस्या पर सरकार उदासीन बनी हुई है।
प्रमोद यादव
किसान
----------------------
पैक्स में धान खरीद का काफी इंतजार करने के बाद जरूरत के अनुसार कम कीमतों में व्यापारियों के हाथों धान बेचना पड़। दस ¨क्वटल धान बचा है। जो पैक्स के माध्यम से बिक्री करेंगे। इनका कहना है कि पैक्स में कागजी स्तर पर धान खरीद होती है। गोदाम का जांच करने पर सच्चाई सामने आ सकती है।
रणधीर यादव
किसान
----------------------
सरकार की धान क्रय केन्द्र खोलने की घोषणा हवा हवाई साबित हो रही है। सरकार के घोषणा के एक माह बीतने के बावजूद पड़रिया पंचायत में क्रय केन्द्र नहीं खुला। जिस कारण बिचौलिये के हाथ धान बेच चुके है। क्रय केन्द्र खुलने के बाद बिचौलिये स्टॉक में रखा धान किसानों के कागजात पर क्रय केन्द्र पर खरीदा जाएगा।
राजीव कुमार
किसान
----------------------
सरकारी स्तर पर क्रय केन्द्र समयानुसार नहीं खुलने के कारण बाजारों में कम कीमतों पर बेचना पड़ा है। गरीबी के कारण सरकारी क्रय केन्द्र का इंतजार नहीं कर सकते है। सरकार द्वारा किसानों के लिए चलाए जा रहे अधिकांश योजना का लाभ गरीब एवं मध्यम दर्जे के किसान को नहीं मिल पाता है।
टीरन दास
किसान
----------------------
हमलोग बड़े किसान नहीं है। जिस कारण धान अधिप्राप्ति केंद्र का खुलने का इंतजार छोड़ खुले बाजार में धान बिक्री कर चुके है। रबी फसल में रुपये की आवश्यकता होती है।जितना इंतजार करते, उतना ही नुकसान होता। बाजार में रूपये भी साथ साथ मिल जाता है। रबी फसल की पैदावार से बचत होने की उम्मीद रहती है।
निर्मल मेहता
किसान
----------------------
बिहारीगंज के 12 पंचायत में सात पंचायत को धान अधिप्राप्ति के लिए चयनित किया गया है। लेकिन कुछ तकनीकी कारणों की वजह से सिर्फ तीन पंचायत शेखपुरा, तुलसिया एवं राजगंज में ही धानक्रय केन्द्र पर धान अधिप्राप्ति की सूचना है। शेखपुरा में 330 ¨क्वटल, राजगंज में 329.79 ¨क्वटल एवं तुलसिया में 50.15 ¨क्वटल धान अधिप्राप्ति का रिर्पोट प्राप्त है। जल्द ही सभी चयनित पैक्स को संचालित कराने की प्रक्रिया की जा रहीं है।
मुकेश कुमार
प्रभारी प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी

Total Pageviews

Follow ME

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

कोशी लाइव

यहाँ आप कोशी क्षेत्र के आसपास सभी जिलों मधेपुरा, सहरसा,सुपौल।तथा अपने प्रखंड ओर पंचायत की सटीक खबरें पढ़ सकते हैं। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

कोशी लाइव फेसबुक ग्रुप join now

 
कोशी लाइव__नई सोच नई खबर
सार्वजनिक समूह · 2,321 सदस्य
समूह में शामिल हों
www.koshilive.com नई सोच नई खबर। सहरसा,मधेपुरा, सुपौल एवं बिहार की प्रमुख खबरें। WhatsApp: 9570452002 Contact for Advertising
 

Pages