BIHAR:गणतंत्र दिवस खास, बिहार के कैप्टन आर्यन गौतम देंगे राष्ट्रपति को आकाश मिसाइल से सलामी - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

नई सोच नई खबर

KOSHI%2BLIVE2

Breaking

Translate

Friday, 25 January 2019

BIHAR:गणतंत्र दिवस खास, बिहार के कैप्टन आर्यन गौतम देंगे राष्ट्रपति को आकाश मिसाइल से सलामी

कोशी लाइव:अक्की

बेगूसरायः बिहार के एक और लाल ने पुरे देश में बिहार का नाम रौशन कर दिया। बिहार के बेगूसराय के रहने वाले कैप्टन आर्यन गौतम को गणतंत्र दिवस के अवसर पर दिल्ली के राजपथ पर सेना द्वारा दिखाई जाने वाली झांकी में आकाश मिसाइल के साथ राष्ट्रपति को सलामी देने के लिए चुना गया है। इस उपलब्धि से कैप्टन आर्यन के पैतृक गांव रतनपुर में हर्ष का माहौल है। पूरा परिवार कैप्टन आर्यन को देखने के लिए लालायित है। आर्यन गौतम इंडियन आर्मी में कैप्टन के पद पर राजस्थान में पदस्थापित है। आपको बता दें कि वहीं के यूनिट में जमीन से हवा में मार करने वाला आकाश मिसाइल शामिल है. 
रतनपुर गांव के है कैप्टन गौतम आर्यन 
बेगूसराय के रतनपुर गांव के रहने वाले कैप्टन गौतम आर्यन के परिवार वाले इन दिनों खुश है। दरअसल 26 जनवरी को कैप्टन आर्यन गौतम राष्ट्रपति को आकाश मिसाइल से सलामी देंगे इस उपलब्धि से उनके परिवार के साथ साथ गांव वाले भी खुश हैं। आर्यन के पिता नंद कुमार गौतम और माता का नाम शर्मिला गौतम है। आर्यन की मां शर्मिला गौतम डीएवी स्कूल में शिक्षिका और पिता नंद कुमार गौतम प्राचार्य के पद पर कार्यरत हैं। आर्यन की प्रारंभिक शिक्षा पहली से पांचवी तक बेगूसराय में हुई। इसके अलावा आर्यन पटना और भूटान में भी रहकर पढ़ाई की। आर्यन 10 नवंबर 2016 को भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट के पद पर शामिल हुए। उन्हें16 दिसंबर 2018 को कैप्टन के पद में प्रोन्नति मिली। इसके तुरंत बाद 26 जनवरी को राजपथ पर आकाश मिसाइल से राष्ट्रपति को सलामी देने की बड़ी जिम्मेदारी आर्यन को सौंपी गई है। वहीं, आर्यन को 30 जनवरी को राष्ट्रपति भवन में खाने पर भी दावत दी गयी है। इस उपलब्धि से कैप्टन आर्यन गौतम के परिजन और गांव के लोग काफी खुश हैं। 
कैप्टन पर गर्व करता है पूरा गांव
रतनपुर गांव का छोटा सा आर्यन देखते ही देखते कैप्टन बन गया और स्वदेश में बना देश के सबसे शक्तिशाली आकाश मिसाइल की कमान संभाल रहा है। ये जानकर गांव के लोग और परिजन काफी गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। पूर्व मेयर संजय कुमार ने कहा कि आर्यन की इस उपलब्धि से गांव ही नहीं बिहार और देश को आर्यन पर गर्व है। वही आर्यन की रिटायर्ड शिक्षिका दादी ने कहा कि आर्यन बचपन से ही पढ़ाई में काफी तेज था, और उसका लक्ष्य था कि पढ़ लिखकर सेना में बड़ा अधिकारी बनेगा। जो उसने पहले ही लक्ष्य में हासिल किया। आर्यन पर उन्हें गर्व है। उन्हें दादा रामनरेश सिंह भी अपने पोता की इस उपलब्धि से गदगद है।

Total Pageviews

Follow ME

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

कोशी लाइव

यहाँ आप कोशी क्षेत्र के आसपास सभी जिलों मधेपुरा, सहरसा,सुपौल।तथा अपने प्रखंड ओर पंचायत की सटीक खबरें पढ़ सकते हैं। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Pages