मधेपुरा: जिले के 19 गांवों को बनाया जाएगा जैविक ग्राम - कोशी लाइव

BREAKING

रितिका CCTV

रितिका CCTV
सेल एंड सर्विस

विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, January 4, 2019

मधेपुरा: जिले के 19 गांवों को बनाया जाएगा जैविक ग्राम

कोशी लाइव:AKKY

ऑर्गेनिक खेती को लेकर किसानों का बनाया जाएगा ग्रुप -ग्रुप में शामिल सभी किसानों का होगा पंजीकरण
-पंजीकृत किसानों को मिलेगा ऑर्गेनिक खेती करने का लाइसेंस
जागरण संवाददाता,मधेपुरा: रासायनिक खाद के इस्तेमाल से होने वाले नुकसान को देखते हुए अब जैविक ग्राम बनाने की पहल प्रशासनिक स्तर पर की गई है। प्रारंभिक चरण में जिले के तीन प्रखंड के 19 गांव को जैविक ग्राम बनाने के लिए चयनित किया गया है। चयनित किए गांव में रासायनिक खाद का इस्तेमाल न हो इसकी पहल की जाएगी। वहां के महिला किसानों को इसके लिए प्रशिक्षित भी किया जाएगा। किसानों की सहमति के बाद इन गांव को पूरी तरह से रासायनिक खाद के इस्तेमाल से मुक्त करते हुए जैविक ग्राम बनाया जाएगा। जैविक ग्राम बनाने के लिए किसानों को प्रशिक्षित करने की जिम्मेदारी जीविका को दी गई है।
----------------------
किसानों का बनाया जाएगा लोकल ग्रुप : जैविक खेती को लेकर जिले के तीन प्रखंड के 19 गांव का चयन किया गया है। चयनित प्रखंडों में कुमारखंड,मुरलीगंज और ¨सहेश्वर शामिल है। जैविक ग्राम बनाने की पहल कुमारखंड के इसरायण खुर्द गांव से शुरू हो रही है। यहां के महिला किसानों को चयनित कर अलग अलग ग्रुप बनाया जाएगा। एक ग्रुप में 10 से लेकर 30 किसान तक शामिल होंगे। एक गांव में एक से अधिक ग्रुप भी बनाए जाने का प्रावधान बनाया गया है। लोकल स्तर पर किसानों का ग्रुप बन जाने के बाद स्थानीय स्तर पर किसानों को ऑर्गेनिक खेती के बारे में प्रशिक्षित किया जाएगा। वहीं रासायनिक खाद के इस्तेमाल से होने वाले नुकसान के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाएगी।
-------------------
ऑर्गेनिक खेती करने वालों को मिलेगा लाइसेंस : जैविक या ऑर्गेनिक खेती के लिए चयनित गांव में किसानों का ग्रुप तैयार होने के बाद सभी महिला किसानों का पंजीकरण कराया जाएगा। पंजीकृत किसानों को राज्य सरकार की ओर से ऑर्गेनिक खेती के लिए लाइसेंस दिया जाएगा। वहीं लाइसेंसधारी किसान ऑर्गेनिक खेती कर अपने फसल सब्जी को बाजार में प्रमाणिक तरीके से बेच पाएंगे। किसानों को जैविक खाद के रूप में इस्तेमाल होने वाले सामग्री आदि के बारे जीविका की ओर से प्रशिक्षित किया जाएगा।
-------------------------
ऑर्गेनिक खेती को लेकर इन गांव का हुआ चयन : तीन प्रखंड के 19 गांव का चयन जैविक या ऑर्गेनिक खेती के लिए किया गया है। इसमें कुमारखंड प्रखंड के बेलसाढ़,लक्ष्मीपुर भगवती वन,लक्ष्मीपुर भगवती टू,इसरायण खुर्द,लखीमपुर भगवती वन व लखीमपुर भगवती टू शामिल है। मुरलीगंज प्रखंड के हरिपुरकला,पकिलपार,जोरगामा,अमरी दरहरा,गुदर चकला,रानीपट्टी ¨सग्यान को चयनित किया गया है। वहीं ¨सहेश्वर प्रखंड से पटोरी,रामपुर वन,गहुमनी, रामपुर टू, रूपौली शामिल है।
---------------------------------
जैविक ग्राम बनाने की पहल शुरू की गई है। इसके लिए चयनित गांव से इच्छुक महिला किसानों का एक ग्रुप तैयार किया जाएगा। ग्रुप में शामिल किसानों का पंजीकरण कराकर उसे ऑर्गेनिक खेती करने का लाइसेंस राज्य सरकार से दिलाया जाएगा। खेती में किसानों को प्रशिक्षित करने के साथ जीविका की ओर से प्रोत्साहित किया जाएगा। इसकी शुरुआत कुमारखंड के इसरायण खुर्द गांव से हो रही है।
अजय कुमार
जिला परियोजना प्रबंधक
जीविका

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews