सहरसा: साइबर क्राइम चाइल्ड पोर्नोग्राफी की शिकायत होगी आनलाइन - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

नई सोच नई खबर

KOSHI%2BLIVE2

Breaking

Translate

Monday, 17 December 2018

सहरसा: साइबर क्राइम चाइल्ड पोर्नोग्राफी की शिकायत होगी आनलाइन

कोशी लाइव:अक्की

साइबर क्राइम, चाइल्ड पोनोग्राफी, दुष्कर्म, सामुहिक दुष्कर्म की शिकायत आनलाइन दर्ज करायी जा सकती है। आनलाइन शिकायत दर्ज कराने के लिए भारत सरकार का गृह मंत्रालय मोबाइल फोन पर मैसेज भेजकर लोगों को जागरूक कर रहा है। बेवसाइट पर कोई भी व्यक्ति आनलाइन रिपोर्ट दर्ज करा सकता है। शिकायत दर्ज कराने वाले व्यक्ति की पहचान गुप्त रखी जाएगी।
केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा
साइबरक्राइम डॉट जीओवी डॉट इन वेबसाइट लांच की है।वेबसाइट को साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल नाम दिया गया है।बेवसाइट पर साइबर अपराध, ठगी, चाइल्ड पोर्नोग्राफी और दुष्कर्म जैसी घटनाओं की शिकायतें दर्ज करवाई जा सकती है। ऑनलाइन शिकायत के बाद गृह मंत्रालय जांच के लिए संबधित राज्य की पुलिस को भेजेगी।
पुलिस को शिकायत गंभीरता से लेनी होगी। गृह मंत्रालय भी केस पर नजर रखेगा और प्रगति की रिपोर्ट लेगा। गृह मंत्रालय की सुपरविजन में जहां केस की जांच तेजी से हो सकेगी। वहीं पुलिस पर भी जांच सही तरीके से करने का दबाव रहेगा।
बेवसाइट पर शिकायत करने के बाद एक नंबर मिलेगा। जिसके आधार पर शिकायत कर्ता कार्रवाई को ट्रैक भी कर सकता है। शिकायत जिस राज्य से संबंधित होगी। वहां के अफसरों को कार्रवाई के लिए भेजी जाएगी। कार्रवाई पर वरिष्ठ अफसर निगरानी भी रखेंगे। वेबसाइट पर पहचान जारी किए बगैर भी जानकारी दी जा सकती है। साथ ही ट्विटर एट द रेट साइबर दोस्त पर भी अपनी बात वरीय अधिकारियों तक पहुंचाई जा सकती है।
जागरूकता ही सबसे बड़ा उपाय:
इंटरनेट का तेजी से बढ़ रहा उपयोग धीरे धीरे परेशानी का कारण भी बनने लगा है। खासकर युवाओं और बच्चों
के लिए थोड़ी सी असावधानी महंगी पड़ सकती है। ऐसे में जागरूकता ही साइबर क्राइम से बचने का सबसे आसान तरीका है।
इंटरनेट इस्तेमाल करते समय अपनी निजी जानकारी किसी अज्ञात व्यक्ति के साथ साझा न करें। अनजान लोगों से इंटरनेट पर बातचीत या ई-मेल का आदान-प्रदान न करें। इंटरनेट पर कोई तस्वीर डालने से भी परहेज करना चाहिए। अक्सर तस्वीरों के दुरुपयोग की बात सामने आते रहती है। अपना किसी भी प्रकार का पासवर्ड कभी किसी से साझा न करें।
पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार ने बताया कि जागरूकता और सावधानी से ही साइबर अपराध से बचा जा सकता है। खासकर स्कूली बच्चों को यह पता नहीं होता है कि वह साइबर अपराध कर रहे हैं। अभिभावकों को इंटरनेट इस्तेमाल करने वाले बच्चों पर विशेष ध्यान रखना चाहिए कि वे इंटरनेट पर क्या सर्च कर रहे हैं।

Total Pageviews

Follow ME

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

कोशी लाइव

यहाँ आप कोशी क्षेत्र के आसपास सभी जिलों मधेपुरा, सहरसा,सुपौल।तथा अपने प्रखंड ओर पंचायत की सटीक खबरें पढ़ सकते हैं। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Pages