मधेपुरा।सुमन के घर का इकलौता चिराग था आयुष। - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

Madhepura,Saharsa,Supaul Local Web News Media

Breaking

Translate

Thursday, 6 December 2018

मधेपुरा।सुमन के घर का इकलौता चिराग था आयुष।

कोशी लाइव@अक्की।
मधेपुरा। आलमनगर में गुरुवार को दिनदहाड़े दस वर्षीय बालक आयुष की हत्या से शिक्षक सुमन का घर का चिराग बुझ गया। पैक्स अध्यक्ष सुरेश मेहता का पोता की मौत पर यह कहकर रो पड़ते हैं कि अब क्या होगा। वंश कैसे आगे बढ़ेगा। मासूम ने बदमाशों का क्या बिगाड़ा था। मालूम हो कि बेखौफ बदमाशों ने गुरुवार को दिनदहाड़े आयूष को स्कूल से लौटने के बाद गोली मारकर हत्या कर दी। यद्यपि बदमाश का निशाना उसका दादा सुरेश मेहता था। घटना का कारण कही न कहीं जमीन विवाद से जुड़ने का संकेत मिल रहा है और पुलिस भी उसी दिशा में तहकीकात कर रही है। फिलहाल पुलिस सीसीटीवी खंगाल रही है। कहीं से कोई सुराग मिल जाए।

इधर लोगों का कहना है कि क्षेत्र में आपराधिक घटनाएं बढ़ रही है। पुलिस अगर सक्रिय नहीं हुई तो स्थिति और गंभीर होगा। घटना के बाद सुरेश मेहता के आवास पर लोगों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी है। सभी लोगों की आंखें नम है। वहीं दादा सुरेश मेहता कहते हैं कि वंश का एकमात्र चिराग था आयुष। अपराधी तो उन्हें मारने आया था। लेकिन मासूम आयुष की हत्या कर दी। इससे अच्छा अपराधी रोककर हमें मार देता। कम से कम घर का चिराग तो बच जाता। वहीं आयुष की मां सपना भारती बेसुध है। बीच-बीच में एकाएक उसके चित्कार से पूरा वातावरण गमगीन है। उन्हें क्या मालूम था कि उसका आयुष परीक्षा देकर लौटेगा ही नहीं। वहीं पिता सुमन मेहता जो शिक्षक है वह खामोश है। उनकी आंखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहा है। वे हैं कि आयुष ने किसी का क्या बिगाड़ा था। उसकी किससे दुश्मनी थी।

Follow ME

कोशी लाइव

यहाँ आप कोशी क्षेत्र के आसपास सभी जिलों मधेपुरा, सहरसा,सुपौल।तथा अपने प्रखंड ओर पंचायत की सटीक खबरें पढ़ सकते हैं। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Total Pageviews

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

Pages