BIHAR:बिजली पोल से टकरायी कार, मधेपुरा निवासी और दिल्ली में पोस्टेड डॉक्टर की मौत - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

Madhepura,Saharsa,Supaul Local Web News Media

Breaking

Translate

Wednesday, 5 December 2018

BIHAR:बिजली पोल से टकरायी कार, मधेपुरा निवासी और दिल्ली में पोस्टेड डॉक्टर की मौत

कोशी लाइव:AKKY

बिजली पोल से टकराने के बाद कार पर गिरे हिस्से से एक डॉक्टर की मौके पर ही मौत हो गयी। जबकि, कार में सवार मृतक डॉक्टर की मां, बहन और बहनोई को चोटें लगी है।
हादसा सदर थाना क्षेत्र के सुपौल-सिंहेश्वर रोड पर बुधवार की सुबह लगभग 6 बजे कुम्हैट के पास का संतुलन बिगड़ने से हुआ। बहनोई की हालत गंभीर है, उन्हें नेपाल के विराटनगर में भर्ती कराया गया है। मधेपुरा जिला निवासी डॉ. सौरभ दिल्ली बसाईदारापुर में ईएसआईसी हॉस्पिटल में जूनियर रेजिडेंट थे।
मधेपुरा जिले के शंकरपुर निवासी सुनील यादव के डॉक्टर पुत्र सौरभ कुमार रांची से मधेपुरा लौट रहे थे। कुम्हैट के पास अचानक संतुलन बिगड़ जाने से कार एक पुराने बिना उपयोग वाले बिजली पोल से टकरा गयी। इससे बिजली पोल टूटकर कार के ऊपर गिर गया जिसकी चपेट में डॉ. सौरभ आ गये। हादसे में सौरभ (27) की मौत मौके पर ही हो गयी। कार चला रहे उनके बहनोई रौशन कुमार के सिर में चोट लगने से गंभीर रूप से घायल हो गये।
सदर अस्पताल से उन्हें रेफर करने के बाद उन्हें नेपाल के विराटनगर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कार में सवार सौरभ की बहन सोनाली कुमारी और रौशन की मां को भी हल्की चोट लगी है। उधर, घटना की सूचना मिलते ही मृतक के पिता सुनील यादव और उसके रिश्तेदार सदर अस्पताल पहुंचे। सौरभ के पिता बीएनएमयू से संबद्ध बाबा सिंहेश्वर डिग्री कॉलेज के प्राचार्य हैं। परिजनों के अनुसार सौरभ एक दोस्त की शादी में शामिल होने के लिये हाल में ही दिल्ली से आया था।




दोस्त की शादी के लिए आया था सौरभ


कहते हैं काल लोगों को खींचकर मौत के मुंह में ले जाता है। यही होनहार डॉक्टर सौरभ के साथ हुआ। सौरभ अपने किसी दोस्त के रिसेप्शन पार्टी में शामिल होने के लिए दिल्ली से मधेपुरा आये थे। तीन दिसम्बर को उन्हें सिल्लीगुड़ी में होना चाहिए था। इस बीच बहनोई रौशन के परिवार में होने वाले एक शादी समारोह में उनलोगों के आग्रह पर रांची चले गये।
बुधवार को रांची से लौटने के दौरान ही कुम्हैट में हुए हादसे में उनकी मौत हो गयी। घटना से मर्माहत रिश्तेदारों का कहना था कि सौरभ अगर सिल्लीगुड़ी चला जाता तो शायद उसकी जान नहीं जाती।
बेटे की उठी अर्थी, दामाद जिंदगी-मौत के बीच जूझ रहा: बाबा सिहेंश्वर कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सुनील कुमार यादव और उनकी पत्नी पर मानो दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।
एकलौते पुत्र की मौत से गमगीन मां-बाप के आंखों से न तो आंसू निकल रहे हैं और न ही मुंह से बोल। बुधवार को एक तरफ डॉ. सुनील अपने बेटे की अर्थी को कंधा दे रहे थे तो दूसरी तरफ उन्हें घायल दामाद की चिंता भी थी। घायल दामाद रौशन का इलाज विराटनगर के अस्पताल में चल रहा है। साथ में डॉ. सुनील की बेटी और रौशन की पत्नी सोनाली भी गयी हुई है।
हृदय रोग विशेषज्ञ बनना चाहता था सौरभ: बताया जा रहा है कि सौरभ ने अभी हाल में ही एमबीबीए की डिग्री पास की थी। वह हृदय रोग विशेषज्ञ बनना चाहता था। पिता उसके लिये मधेपुरा में क्लीनिक खोलना चाहते थे।

Follow ME

कोशी लाइव

यहाँ आप कोशी क्षेत्र के आसपास सभी जिलों मधेपुरा, सहरसा,सुपौल।तथा अपने प्रखंड ओर पंचायत की सटीक खबरें पढ़ सकते हैं। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Total Pageviews

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

Pages