BIHAR:कोसी और पूर्णिया प्रमंडल के 13322 आगनबाड़ी केन्द्रों पर लटका ताला - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

Madhepura,Saharsa,Supaul Local Web News Media

Breaking

Translate

Wednesday, 5 December 2018

BIHAR:कोसी और पूर्णिया प्रमंडल के 13322 आगनबाड़ी केन्द्रों पर लटका ताला

कोशी लाइव:AKKY

पूर्णिया। कोसी और पूर्णिया प्रमंडल के 5,32,880 कुपोषित बच्चों का निवाला बंद हो गया है। पांच दिसम्बर से आगनबाड़ी केन्द्र की सेविका एवं सहायिका के हड़ताल पर चले जाने के कारण 13322 आगनबाड़ी केन्द्रों में ताला लटक गया है। सेविका सहायिका के हड़ताल पर चले जाने के कारण दिसम्बर माह में कोसी के इन आगनबाड़ी केंद्रों पर पोषाहार और टेक होम राशन का वितरण संभव नहीं हो पाएगा। पूर्णिया एवं सहरसा प्रमंडल के सात जिलों पूर्णिया, कटिहार, सहरसा, सुपौल, मधेपुरा, अररिया एवं किशनगंज जिले में हड़ताल के कारण गर्भवती एवं धातृ महिलाओं को सूखा राशन भी नसीब नहीं हो पाएगा। आइसीडीएस अंतर्गत आगनबाड़ी केंद्र सरकार की महत्वाकाक्षी योजना में शामिल है। बच्चों और धातृ महिलाओं को कुपोषण की त्रासदी से उबारने के लिए ही सरकार ने आइसीडीएस का गठन किया था। छह साल तक के बच्चों को पौष्टिक आहार एवं प्राथमिक स्तर की शिक्षा जैसी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी आगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सौंपी गई है। कुपोषित बच्चों व धातृ महिलाओं को पौष्टिक आहार उपलब्ध कराने के लिए सरकार ने पोषाहार और टेक होम राशन योजना शुरू की है। इस योजना के तहत कुपोषित बच्चों और धातृ महिलाओं को 800 कैलोरी व 20-25 ग्राम प्रोटीन उपलब्ध कराया जाता है। इसके लिए केंद्र और राज्य सरकार मिलकर राशि उपलब्ध कराती है। मगर अपनी मागों को लेकर सेविका-सहायिका के हड़ताल पर चले जाने के कारण योजना खटाई में पड़ गई है। पूर्णिया जिले में कुल 2,856 आगनबाड़ी केंद्रों का संचालन फिलहाल हो रहा है। जहा माह में एक बार टेकहोम का राशन का वितरण किया जाता है साथ ही प्रत्येक दिन बच्चों को पौष्टिक आहार दिया जाता है। इसके लिए प्रति केंद्र व प्रति माह 15,700 रुपये का वितरण किया जाता है। सिर्फ पूर्णिया जिले में टेक होम राशन के लिए प्रति माह 4,48,39,200 रुपये का आवंटन दिया जाता है। टेक होम राशन के लिए राशि माह के अंत में आ जाती है। जिससे दूसरे माह में केद्रों पर वितरण कराया जाता है और योजना क्रमवार चलती रहती है, लेकिन पांच दिसम्बर से हड़ताल के कारण ना तो आगनबाड़ी केन्द्र का संचालन संभव हो पाएगा और ना ही बच्चों को निवाला दिया जा सकेगा। । आगनबाड़ी केन्द्र की सेविका-सहायिका की माग है कि सरकार उनकी सेवा को नियमित करे एवं उन्हें कम से कम हर माह 18 हजार रुपये वेतन के रुप में भुगतान करे। अपनी मागों को लेकर सेविका-सहायिका द्वारा हर दिन चरणबद्ध आदोलन भी चलाया जाएगा
जिले का नाम--आगनबाड़ी केंद्रों की संख्या--हर माह आने वाला आवंटन
1.पूर्णिया- 2,856 - 4,56,08,500
2.अररिया-2,125 -3,33,62,500
3.कटिहार-2325 -3,65,02,500
4.किशनगंज-1295- 2,03,31,500
5.सहरसा-1464- 2,29,84,800
6.सुपौल-1743- 3,05,02,500
7.मधेपुरा-1524- 2,39,26,800

Follow ME

कोशी लाइव

यहाँ आप कोशी क्षेत्र के आसपास सभी जिलों मधेपुरा, सहरसा,सुपौल।तथा अपने प्रखंड ओर पंचायत की सटीक खबरें पढ़ सकते हैं। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Total Pageviews

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

Pages