SAHARSA:सहरसा जिला में बढ़ रहे एड्स के मरीज - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

Madhepura,Saharsa,Supaul Local Web News Media

Breaking

Translate

Friday, 30 November 2018

SAHARSA:सहरसा जिला में बढ़ रहे एड्स के मरीज

कोशी लाइव:AKKY

बिहार राज्य एड्स कंट्रोल सोसायटी द्वारा सदर अस्पताल परिसर में संचालित समेकित जांच परामर्श केंद्र में हर वर्ष हजारों लोगों की जांच व काउंसलिंग की जाती है। केंद्र में आने वाले लोगों की पहचान गुप्त रखी जाती है। केंद्र में निशुल्क जांच व परामर्श की सुविधा उपलब्ध है लेकिन असली समस्या तब होती है। जब एचआईवी पॉजिटिव मरीजों को इलाज के लिए एआरटी सेंटर खगड़िया भेजा जाता है। जबकि सहरसा में भी एआरटी सेंटर खोलने की घोषणा हुई थी लेकिन घोषणा धरातल पर नहीं उतर सकी । जिससे मरीजों को खगड़िया जाना पड़ता है और आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ता है।ज्यादातर एचआईवी पॉजिटिव मरीज आर्थिक रुप से कमजोर वर्ग के होते हैं। जिसका मुख्य कारण है कि यह क्षेत्र पलायन का क्षेत्र है। जहां प्रतिवर्ष हजारों की संख्या में लोग अपना और अपने परिवार के जीवन यापन करने के लिए परदेश कमाने जाते हैं। जाने अनजाने या जागरूकता की कमी से लोग यौन संक्रमण का शिकार होकर एचआईवी पॉजिटिव से ग्रसित हो जाते हैं।आइसीटीसी केन्द्र के काउंसलर मनोज कुमार सिंह ने बताया कि दिसंबर 17 से नवंबर 18 तक 12 हजार 8 सौ 78 पुरूषों का कांउसलिंग की गया और 12 हजार 8 सौ 68 का जांच किया। जांच के बाद 38 पाजिटिव पाए गये। वहीं इस दौरान 2485 महिलाओं की कांउसलिंग व 2471 की जांच हुई। जिसमें 30 पाजीटिव पाए गये। एचआईवी पॉजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है। वहीं
दिसंबर 2016 से दिसंबर 2017 के बीच साढ़े दस हजार महिला और पुरुषों की काउंसलिंग की गयी। काउंसलिंग के बाद इनका जांच किया गया और अबतक 36 एचआईवी पॉजिटिव मरीज पाये गये । जिसमें महिला और पुरुषों की संख्या लगभग बराबर है। आकड़ों की बात करें तो औसतन हर महीने सात सौ पुरूष और लगभग डेढ़ सौ महिलाओं का सेंटर पर काउंसलिंग और निशुल्क जांच किया जाता है। इसके पूर्व वर्ष 2015-16 के दौरान भी आठ हजार से ज्यादा लोगों की काउंसलिंग और जांच की गयी। जिसमें 36 महिला और पुरुष एचआईवी पॉजिटिव पाये गये। इसके बावजूद घोषित एआरटी सेंटर नहीं खुलने से दूसरे जिले भेजा जाता है। एचआईवी का मतलब है ह्यूमन इम्यूनोडिफिशिएंसी वायरस। यह लोगों की रोगों से लड़ने की क्षमता पर हमला करता है। शुरुआत में एचआईवी पॉजिटिव व्यक्ति स्वस्थ नजर आता है लेकिन वायरस आठ दस वर्षों में प्रतिरक्षण प्रणाली को कमजोर कर देता है। वहीं टीवी वाले मरीजों में एचआईवी वायरस का स्तर कई गुणा बढ़ जाता है।एड्स के सामान्य लक्षण
एचआइवी संक्रमण के शुरूआती लक्षणों की अगर समय रहते पहचान कर उपचार शुरू कर दिया जाए तो पीड़ित की उम्र बढ़ सकती है। लंबी आयु मिल सकती है। लगातार तेज बुखार, हमेशा थकान व नींद आना, भूख में कमी, रात में सोते समय पसीना आना, दस्त लगना व वजन में कमी एचआइवी संक्रमण के लक्ष्ण हो सकते हैं। संक्रमण की स्थिति में त्वचा पर रेशे पड़ सकते हैं। साथ ही
ग्रंथियों में सूजन आ सकती है।

Follow ME

कोशी लाइव

यहाँ आप कोशी क्षेत्र के आसपास सभी जिलों मधेपुरा, सहरसा,सुपौल।तथा अपने प्रखंड ओर पंचायत की सटीक खबरें पढ़ सकते हैं। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Total Pageviews

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

Pages