पुर्णियां :पंकज मुनि और थापा सिंह की गिरफ्तारी से लोगों ने ली चैन की साँस - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

Madhepura,Saharsa,Supaul Local Web News Media

Breaking

Translate

Thursday, 25 October 2018

पुर्णियां :पंकज मुनि और थापा सिंह की गिरफ्तारी से लोगों ने ली चैन की साँस

अक्की@ कोशी लाइव 


पूर्णिया। मधेपुरा सहित नवगछिया, भागलपुर, खगडिया जिलों में आतंक का पर्याय बना तथा पसराहा थानाध्यक्ष शहीद आशीष सिंह हत्याकाड का आरोपित दिनेश मुनि का दाहिना हाथ पंकज मुनि समेत थापा सिंह की गिरफ्तारी से मोहनपुर ओपी एवं सीमा क्षेत्र चौसा थाना क्षेत्र के लोगों ने राहत की सास ली है। उसका आतंक इस कदर था कि लोग डर से अपना मुंह तक नहीं खोलते थे। पंकज मुनि तो रूपौली क्षेत्र में भी अपनी धमक दिखा जाता था परंतु कहते हैं अपराधी लाख अपनी कोशिश कर ले, कानून की जद में आना ही पड़ता है। बुधवार को चौसा थाना क्षेत्र के चिरौरी गाव के पंकज मुनि एवं थापा सिंह उर्फ आमोद मंडल की नाटकीय ढंग से गिरफ्तारी हो गई, परंतु एक अपराधी वहा से फरार होने सफल रहा। पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि पंकज मुनि मोहनपुर आया है। इसके लिए चौसा एवं मोहनपुर ओपी पुलिस ने संयुक्त अभियान शुरू की। पुलिस को पल-पल की खबर मिल रही थी कि विवेका चौक पर पंकज मुनि थापा सिंह के साथ खा-पी रहा है तथा वहा अन्य दो और व्यक्ति होने की सूचना पुलिस को थी। जब पुलिस वहां पहुंची तो मालुम हुआ कि पंकज वहा से दात का इलाज कराने ओपी के पीछे एक निजी क्लीनिक में गया है। चौसा थाना पुलिस तेजी से वहा आगे बढ़ी। इधर विवेका चौक से थापा सिंह अपने सहयोगी के साथ बाइक से तेजी से निकला। उसका संतुलन गड़बड़ा गया तथा वह गिरकर बुरी तरह से जख्मी हो गया तथा उसकी कमर से पिस्टल गिर गया। उसके गिरते ही वहा भीड़ जुट गई तथा पिस्टल को किसी ने गायब कर दिया। इधर पीछे आ रहे मोहनपुर ओपी अध्यक्ष शैलेश पाडे वहा पहुंचे, देखा कि गिरे व्यक्ति की कमर में बंधे विंडोलिया में गोलिया झाक रही है, उसे तुरंत हिरासत में लेकर स्थानीय चिकित्सक के पास पहुंचाया गया। उधर चौसा पुलिस ने क्लीनिक पर पंकज मुनि को दबोच लिया। पंकज मुनि को कोई पहचान नहीं रहा था। इसका परिणाम था कि वह मोहनपुर ओपी के ठीक सामने दात का इलाज करवा रहा था।
लडु मुनि के साथ रहता था दोनों

मिली जानकारी के अनुसार दिनेश मुनि और पंकज मुनि लडु मुनि के साथ रहता था। मोहनपुर के लडु मुनि की हत्या 2009 में हो गई थी। ये लोग चौसा थाना क्षेत्र में अपराध करता था। लडु मुनि की हत्या बाद इस गैंग के इस क्षेत्र के सभी ने हथियार डाल अपनी नई जिंदगी की शुरुआत की। परंतु दिनेश मुनि एवं पंकज मुनि ने अपराध की दुनिया से नाता नहीं तोड़ा। पंचायत चुनाव में एक बार उसने यहां अपनी धमक दी थी किंतु सफलता हाथ नहीं लगी। जबसे थापा सिंह जेल से आया था, तबसे उसका एकबार फिर इस क्षेत्र में आना-जाना शुरू हो गया था।
थापा सिंह के नाम दर्ज है एक मामला
मोहनपुर ओपीक नाथपुर गाव निवासी थापा सिंह का आपराधिक इतिहास रहा है। उसपर 2010 में काड संख्या 87/2010 मामला दर्ज हुआ था। पुलिस ने लूटी गई तीन बाइक उसके घर से बरामद किया था। उसपर रूपौली क्षेत्र में एक ही मामला दर्ज है।

Follow ME

कोशी लाइव

यहाँ आप कोशी क्षेत्र के आसपास सभी जिलों मधेपुरा, सहरसा,सुपौल।तथा अपने प्रखंड ओर पंचायत की सटीक खबरें पढ़ सकते हैं। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Google+ Followers

Total Pageviews

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

Pages