मधेपुरा: गांवों की ओर बढ़ने लगा पानी का दबाव - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

नई सोच नई खबर

KOSHI%2BLIVE2

Breaking

Translate

Friday, 13 July 2018

मधेपुरा: गांवों की ओर बढ़ने लगा पानी का दबाव

@स्टालिन_अमर_अक्की #_कोशी क्षेत्रिये समाचार

कोसी नदी के जलस्तर में हो रही वृद्धि के कारण आलमनगर प्रखंड के नीचले इलाके के गांवों की ओर पानी दबाव बढ़ने लगा है। बाढ़ का खतरा बढ़ने के कारण लोगों ने जरूरी सामानों की स्टॉक करना शुरू कर दिया है।
प्रखंड के करीब दो दर्जन गांव दो से तीन माह तक बाढ़ में घिरे रहते हैं। बाढ़ के बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रशासन की ओर से राहत- बचाव की सभी तैयारी पूरी करने का दावा किया जा रहा है। खापुर पंचायत के दो कठिया सबरी नगर, चोढ़ली वासा, पचवीरा, बघरा, किशनपुर-रतवारा पंचायत के कपसिया गोठ और कपसिया स्कूल टोला, ललिया पुनर्वास, मुरौत, भवानीपुर बासा, गंगापुर पंचायत के पैकांत-पिपरपांती आदि गांव दो से तीन माह बाढ़ से घिरे रहते हैं|। ग्रामीणों बताया कि बाढ़ के बाद 2 से 3 महीना घुटना से कमर तक पानी में चलकर बाजार से अपने घरेलू सामान लाकर गुजर बसर करते हैं।
यहां सड़क की सुविधा नहीं रहने के कारण बीमार पड़ने पर मरीज को सड़क तक ले जाने में करीब 1 किलोमीटर से अधिक पानी में चलना पड़ता है। ग्रामीणों ने बताया कि बाढ़ का पानी गांव से करीब 2 किलोमीटर दूर है। दो से तीन फीट पानी बढ़ने के बाद ये गांव बाढ़ की चपेट में आ जायेंगे। इस इलाके के कपसिया गोठ, सुखाड़घाट, मरौत, कपसिया बासा, सागर बासा, मुस्लिम बासा आदि गांव के पास बाढ़ का पानी फैलने लगा है। कोसी के जलस्तर में 2 से 3 फीट पानी बढ़ने के बाद खापुर से रतवारा का मार्ग बाधित होने का भी खतरा है। मार्ग पर आवागमन ठप होने से करीब 30 से 35 हजार लोग प्रभावित होंगे।
दो कठिया सबरीनगर गांव के कैलाश ऋषिदेव ने कहा कि बाढ़ के दौरान अधिक पानी होने पर वे लोग बाढ़ आश्रय स्थल में रहते हैं। सरकार की ओर से भोजन की सुविधा दी जाती है। बाढ़ के दौरान डॉक्टर कभी- कभी शिविर में आते हैं। ऐसी स्थिति में मरीजों का इलाज कराना बड़ी समस्या बन जाती है। घोलट ऋषिदेव ने कहा कि गांव के लोग दो से माह पानी में और 9 से 10 माह सूखे में रहते हैं। सड़क नहीं रहने के कारण आवागमन में परेशानी उठानी पड़ती है। वृद्ध महिला सरस्वती देवी ने कई लोगों को बाढ़ राहत राशि नहीं मिलने की बात कही। उन्होंने कहा कि बाढ़ फिर आने को तैयार है। बाढ़ में फिर तबाही होगी। हर बाढ़ में उजड़ने के बाद नए सिरे से फिर से घर को संभालना काफी दुखदायी हो गया है।

Total Pageviews

Follow ME

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

कोशी लाइव

यहाँ आप कोशी क्षेत्र के आसपास सभी जिलों मधेपुरा, सहरसा,सुपौल।तथा अपने प्रखंड ओर पंचायत की सटीक खबरें पढ़ सकते हैं। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Pages