सुपौल : कोसी सहित कई नदियां उफनाई, दर्जनों गांव में घुसा बाढ़ का पानी - कोशी लाइव

 कोशी लाइव

Madhepura,Saharsa,Supaul Local Web News Media

Breaking

Translate

Thursday, 5 July 2018

सुपौल : कोसी सहित कई नदियां उफनाई, दर्जनों गांव में घुसा बाढ़ का पानी

@स्टालिन_अमर_अक्की #_कोशी क्षेत्रिये समाचार
AKKY:/SUPAUL

 भारत-नेपाल कोसी बराज से आज शाम 4 बजे बढ़ते क्रम में 1 लाख 55 हजार 545 क्यूसेक पानी छोड़ा गया, जो इस साल का सबसे अधिकतम डिस्चार्ज रिकॉर्ड दर्ज किया गया है। नेपाल प्रभाग में लगातार हो रही बारिश के कारण बिहार के सुपौल, मधुबनी, सहरसा, मधेपुरा सहित अन्य जिलों में सैलाब का सितम शुरु है।
कई गांवों पर सैलाब का खतरा मंडराने लगा है। सुपौल जिले से होकर गुजरने वाली क्रमशः कोसी, तिलयुगा, बिहुल सहित अन्य कई नदियां उफान पर है। कोसी नदी का पानी अबतक दर्जनों गांव में घुस चुका है। वहीं, कोसी के जलस्तर में वृद्धि जारी है। सुपौल जिले के मरौना, निर्मली, सरायगढ़-भपटियाही, किशनपुर व सुपौल सदर प्रखंड के लगभग तीन दर्जन से अधिक बाढ़ प्रभावित गांव के लोग सैलाब का सितम झेल रहे है।बता दें कि अतिसंवेदनशील प्रभावित गांव के लोगों का ऊंचे स्थान की ओर पलायन शुरु है। वहीं, आपदा को लेकर जिला प्रशासन सख्त होने का दावा कर रहा है। जगह-जगह नौका बहाल किया गया है। इसके साथ ही सुरक्षा तटबंधों और स्परों की सुरक्षा के दृष्टिकोण से रेस्क्यू ऑपेरशन जारी है।जबकि प्रभावित इलाके के लोगों के लिए रात्रि विश्राम हेतु ऊंचे स्थान पर अबतक एक भी कैंप नहीं लगाए गए है। इतना ही नहीं, बाढ़ से बेघर लोगों के लिए खाने-पीने की भी व्यवस्था प्रशासनिक अर्थात सरकारी स्तर से नहीं की गई है। बहरहाल लोगों में चीख-पुकार जैसी स्थिति दिखने लगे है।
सुपौल से बिष्णु गुप्ता की रिपोर्ट

Follow ME

कोशी लाइव

यहाँ आप कोशी क्षेत्र के आसपास सभी जिलों मधेपुरा, सहरसा,सुपौल।तथा अपने प्रखंड ओर पंचायत की सटीक खबरें पढ़ सकते हैं। अगर किसी भी प्रकार की न्यूज़ आपके पास है।तो आप हमें दिए गए नम्बर 9570452002 पर whatsapp द्वारा भेज सकते हैं। -----------संपादक:-स्टॉलिन अमर अक्की www.koshilive.com

Google+ Followers

Total Pageviews

SAFETY ZONE

SAFETY ZONE

Pages