मधेपुरा।इंटर की परीक्षा से निष्कासित होने के बाद छात्रा हुई बेहोश - कोशी लाइव

BREAKING

रितिका CCTV

रितिका CCTV
सेल एंड सर्विस

विज्ञापन

विज्ञापन

Friday, February 9, 2018

मधेपुरा।इंटर की परीक्षा से निष्कासित होने के बाद छात्रा हुई बेहोश

09feb,2018  @कोशी क्षेत्रिये समाचार

इंटर परीक्षा के तीसरे दिन गुरुवार को पांच परीक्षार्थी नकल करते पकड़े गए। पांचों परीक्षार्थियों को परीक्षा से निष्कासित कर दिया गया। मधेपुरा के केवी वीमेंस कालेज परीक्षा केंद्र से नकल करते पकड़े जाने के बाद परीक्षा से निष्कासित किये जाने पर एक परीक्षार्थी बेहोश हो गयी। परीक्षा ड्यूटी में तैनात अधिकारियों ने उसे सदर अस्पताल पहुंचाया।
सदर अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। तीसरे दिन की परीक्षा में 2296 परीक्षार्थी शामिल हुए । 584 परीक्षार्थी परीक्षा में अनुपस्थित रहे। मधेपुरा के दो परीक्षा केंद्रोंे से तीन और बिहारीगंज से एक परीक्षा केंद्र से दो परीक्षार्थी नकल करते पकड़े गए। बिहारीगंज में एक पकड़े गये एक परीक्षार्थी के पास से ब्लूटूथ का डिवाइस भी बरामद हुआ। परीक्षा में पूरी सख्ती के बावजूद परीक्षार्थी नकल करने के मोह में फंस रहे हैं। इंटर परीक्षा को लेकर गुरुवार की सुबह शहर की सड़कों पर खास चहल-पहल रही। नौ बजे तक परीक्षा केंद्रों पर परीक्षार्थियों की मौजूदगी पिछले दो दिनों की अपेक्षा कम दिखी।
साढ़े नौ बजे के बाद सीएम साइंस कॉलेज, टीपी कॉलेज आदि परीक्षा केंद्रों पर साढ़े नौ बजे के बाद परीक्षार्थियों के एक बड़े तबके की नजर मोबाइल पर टिकी रही। दर असल मोबाइल पर वस्तुनिष्ट 35 प्रश्नों का उत्तर वॉयरल हो रहा था। परीक्षार्थी उसे परीक्षा में पूछे जाने वाले वस्तुनिष्ठ प्रश्नों का सही उत्तर मानकर चिट बना रहे थे। छोटे-छोटे पुर्जे में चिट बनाकर अपने हिसाब से सुरक्षित स्थान पर रखने के बाद बहुत से परीक्षार्थी केंद्र के अंदर गए। चिट बनाने के चक्कर में कई परीक्षार्थी परीक्षा शुरू होने के बाद परीक्षा देने गए।

हालांकि बाद में पता चला कि वस्तुनिष्ठ प्रश्नों का वायरल उत्तर परीक्षा में पूछे गये प्रश्नों के क्रम से मेल नहीं खाता है। परीक्षा में सख्ती का आलम यह है कि केंद्र में जाने के पहले जूता खुलवाकर भी तलाशी ली जा रही है। इसके बावजूद परीक्षार्थी नकल करने के नए-नए तरकीब अपनाने में लगे हैं।

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

SAFTY ZONE[मधेपुरा]

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल

सावित्रीनंदा पब्लिक स्कूल
बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए जरूर सम्पर्क करें।

Total Pageviews